गौरीकुंड-केदारनाथ पैदल मार्ग पर लिनचोली के पास कंडी से गिरकर हुई एक पांंच साल के बच्चे की मौत

Spread the love


रुद्रप्रयाग। गौरीकुंड-केदारनाथ पैदल मार्ग पर लिनचोली के समीप कंडी से 200 मीटर गहरी खाई में गिरकर एक पांच वर्षीय बच्चे की मौत हो गई। मौत का कारण कंडी संचालक की लापरवाही बताई जा रही है। घटना के बाद से कंडी संचालक नेपाली मजदूर फरार है। मृतक बच्चे के माता-पिता ने सोन प्रयाग कोतवाली में आरोपी नेपाली मजदूर के खिलाफ तहरीर दी है, जिसके आधार पर पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर दिया है।

पुलिस के अनुसार, उत्तर प्रदेश के आगरा शहर से विजय कुमार गुप्ता पत्नी ऋतु गुप्ता, दो बच्चों सहित छह लोगों के साथ बीते एक जुलाई को केदारनाथ यात्रा पर आए हुए थे। गौरीकुंड से ऋतु अपने पांच वर्षीय बेटे शिवा के साथ घोड़े से केदारनाथ लिए रवाना हुई, जबकि पति, उनकी बेटी व दो अन्य लोग पैदल चल रहे थे। उन्होंने महिला को भीमबली में रुकने को कहा था। 

महिला बच्चे के साथ भीमबली में पहुंचकर घोड़े से उतर गए। यहां कुछ देर इंतजार करने के बाद वह बच्चे के साथ धाम की ओर पैदल ही चलने लगी। रामबाड़ा में शिवा ने पैदल चलने में असमर्थता जताई। इसी दौरान केदारनाथ से एक कंडी संचालक नेपाली मजदूर लौट रहा था। महिला ने बच्चे को कंडी से केदारनाथ ले जाने का मोलभाव किया, तो 2000 रुपये तय हुआ। इसके बाद कंडी संचालक बच्चे को लेकर धाम की ओर चला गया और महिला पैदल ही धीरे-धीरे आगे बढ़ने लगी।

इसी दौरान लगभग 6:30 बजे शाम को लिनचोली में कंडी से किसी बच्चे के गिरने की सूचना मिली। पुलिस और एसडीआरएफ की टीम ने करीब 200 मीटर गहरी खाई से बच्चे का शव बरामद किया। इसी दौरान बच्चे के माता-पिता व अन्य लोगा भी मौके पर पहुंचे, तो शिवा के शव को देखकर बिलखने लगे। पुलिस ने उन्हें कंडी संचालक के बारे पूछा, तो वह कोई स्पष्ट जानकारी नहीं दे पाए। 

रविवार को बच्चे के माता-पिता ने सोन प्रयाग कोतवाली पहुंचकर आरोपी कंडी संचालक के खिलाफ तहरीर दी। कोतवाल सुरेश चंद्र बलूनी ने बताया कि कंडी संचालक नेपाली मजदूर का नाम, पहचान से जुड़ा कोई भी दस्तावेज मृतक बच्चे के माता-पिता के पास नहीं है। लेकिन उन्होंने जो हुलिया बताया है, उसके आधार पर आरोपी की जांच की जा रही है।





Source link

Samachaar India

Related articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *