लोकेशन ट्रैकिंग मामले में दोषी पाया गया गूगल, केस के निपटारे के लिए 40 राज्यों को देगा 32 अरब रुपए

Spread the love

वॉशिंगटन। दिग्गज टेक कंपनी गूगल की मुश्किलें कम होती नहीं दिख रही हैं। गूगल को अमेरिका में लोकेशन ट्रैकिंग केस में बड़ा झटका लगा है। अमेरिका के 40 राज्यों के साथ उसने इस केस के निपटारे के लिए एक समझौता किया है। इसके तहत मिशीगन समेत 40 राज्यों को गूगल 40 करोड़ डॉलर (32 अरब रुपये से ज्यादा) का हर्जाना चुकाएगा।

जांच में गूगल को अमेरिकी लोकेशन ट्रैकिंग नियमों के उल्लंघन कर उपभोक्ताओं को गुमराह करने का दोषी माना गया है। मिशिगन अटॉर्नी जनरल डाना नेसेल के कार्यालय ने बताया कि अमेरिका के 40 राज्यों ने लोकेशन ट्रैकिंग प्रैक्टिस को लेकर उपभोक्ताओं को गुमराह करने के मामले में गुगल पर लगे जुर्माने के निपटारे के लिए समझौता किया है। इस समझौते के तहत गूगल करीब 32 अरब रुपये (400 मिलियन अमरीकी डॉलर) का हर्जाना इन 40 राज्यों को देगा। बताया जा रहा है कि यह इतिहास में सबसे बड़ा बहुराज्य अटॉर्नी जनरल गोपनीयता समझौता है।

नेसेल के अनुसार गूगल को ज्यादातर कमाई या राजस्व उसके ब्राउजर या एप्स का इस्तेमाल करने वाले लोगों के निजी डाटा के इस्तेमाल से होती है। निजता कानूनों के उल्लंघन के कारण गूगल ने मिशीगन समेत 40 राज्यों के एटॉर्नी जनरलों के साथ यह करार किया है। मिशीगन के एटॉर्नी जनरल कार्यालय के अनुसार गूगल यूजर्स या उपभोक्ताओं को जानकारी दिए बगैर या उनकी अनुमति के बिना उनकी लोकेशन की ट्रैकिंग कर उसका निजी हित में इस्तेमाल करता है।

Samachaar India

Related articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *