जम्मू के राजोरी में आतंकियों और सुरक्षाबलों के बीच मुठभेड़ में एक आतंकी ढेर, इलाके में तलाशी अभियान जारी

जम्मू के राजोरी में आतंकियों और सुरक्षाबलों के बीच मुठभेड़ में एक आतंकी ढेर, इलाके में तलाशी अभियान जारी

जम्मू। जिला राजोरी के दस्सल इलाके के साथ लगते जंगलों में आतंकियों और सुरक्षा बलों के बीच मुठभेड़ हुई है। बताया जा रहा है कि सुरक्षाबलों ने इस मुठभेड़ में एक आतंकी को मार गिराया है। उसके पास से सुरक्षाबलों को हथियार व अन्य सामान बरामद हुआ है। आतंकी की पहचान के लिए कार्रवाई की जा रही है। राजोरी के साथ लगते गांव दस्सल में आतंकियों के होने की सूचना के बाद भारतीय सेना और सुरक्षा एजेंसियों ने बीती रात से ही जवाबी कार्रवाई के लिए ऑपरेशन चला रही है।

आज सुबह होते ही भारतीय सेना, जम्मू कश्मीर पुलिस और पैरा मिलिट्री फोर्स के जवानों की आतंकियों के साथ मुठभेड़ शुरू हो गई। आतंकी दस्सल गांव के साथ लगते जंगलों में मौजूद हैं। बताया जा रहा है कि जंगलों में दो से तीन आतंकी मौजूद हो सकते हैं। गौरतलब है कि कुछ दिन पहले ही सुरक्षा एजेंसियों ने राजोरी और उसके आसपास लगते जंगलों में एक दर्जन आतंकियों के घूमने का अनुमान लगाया था। माना जा रहा है कि यह उन्हीं आतंकियों में से कुछ हो सकते हैं।

एहतियात के तौर पर राजोरी से लेकर दस्सल गांव एवं इसके आसपास के क्षेत्रों में भारतीय सेना एवं सुरक्षा एजेंसियों द्वारा सारे रास्ते सील कर दिए हैं। इस क्षेत्र में पड़ने वाले सभी स्कूलों को सुरक्षा की दृष्टि से आज बंद रखा गया है।इसके साथ-साथ गांव के आसपास रहने वाले लोगों को अपने घरों के भीतर ही रहने के लिए कहा गया है। किसी प्रकार की मूवमेंट सड़क एवं रास्तों के माध्यम से रोकी गई है। अभी केवल पैरामिलिट्री फोर्सेस भारतीय सेना एवं सुरक्षा एजेंसियों के लोग ही दस्सल गांव एवं आसपास के रास्तों पर आवाजाही कर रहे हैं।

वहीं दूसरी ओर कल ही अमरनाथ यात्रा से पहले बड़े आंतकी हमले का इनपुट सुरक्षा बलों मिला था। जिसके बाद जवान हर गतिविधि पर पैनी नजर बनाए रखे हुए हैं। पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई की मदद से सीमा पर बैठे आतंकी संगठनों ने आगामी श्री अमरनाथ यात्रा में खलल डालने के लिए साजिश रचनी शुरू कर दी है। आईएसआई के कहने पर पाकिस्तानी रेंजरों और पाकिस्तानी सैनिकों के बंकरों में लश्कर और जैश-ए-मोहम्मद के प्रशिक्षित आतंकियों को पनाह दी गई है।

इन्हें हर हाल में अगले एक महीने में घुसपैठ करने और अमरनाथ यात्रा शुरू होने से ठीक दो-तीन दिन पहले बड़ा हमला करने के निर्देश दिए गए हैं। सूत्रों का कहना है कि सियालकोट के नजदीक शकरगढ़, पुंछ में बिंबर, मीरपुर और कोटली आदि में 30 से 40 प्रशिक्षित आतंकियों को तैयार किया गया है। यह आतंकी अगले 15 से 20 दिनों में कभी भी कहीं से घुसपैठ करने का प्रयास कर सकते हैं। कठुआ के हीरानगर, सांबा के रामगढ़, राजोरी के नौशेरा और पुंछ के कृष्णा घाटी सेक्टर से आतंकी घुसपैठ कर सकते हैं। इनको घुसपैठ के लिए तैयार किया गया है, जबकि गोला बारूद, हथियार और नकदी ड्रोन के जरिए भेजने की साजिश रची जा रही है।

Samachaar India

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *